।। सुरज से गप्पें ।।

जिनको पूजते सब नर – नारी ,

बनाए हर दिन को महान ,

सुर्य देव आपको प्रणाम।।

परंतु कुछ बातें कभी हमें भी समझो ,

कभी आप भी राजा बन कर आओ ।

आप हो तो काफी छोटे ,

पर गरमी बहुत हो देते ।।

कभी हमपर भी रहम करो,

गरमी थोड़ा सा कम करो ।

निंद्रा के समय आपके सबसे अलग ,

हमे इतनी जल्दी मत उठाया करो ।।

रात को क्या आपकी

डयूटी खत्म हो जाती है ।

आप के पास कोई सहचर नहीं

रोज़ एक काम कर आप थकते नहीं ।।

जल्दी से बतलाइये गा

तभी चैन से घर जाइये गा ।

जिन को पूजते सब नर – नारी ,

और बनाए हर दिन को महान . . . . . . . . .

Advertisements

Posted on 18/09/2015, in POEMS POSTED IN HINDI. Bookmark the permalink. Leave a comment.

Let us know your thoughts about the post above !! !

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: